2017 was special! For me, I mean!  To begin with, I almost ran into Yamraj, hoodwinked him & came back.  I reaffirmed that looks do not matter to me. Did that by sporting a shaved patch on my head, nonchalantly, for months, once I got back on my feet after 65 days of being restricted […]

Play to listen आत्मा है, चेतना है क्या कहें अयोध्या क्या है? केवल भूमि नहीं, यह राम-राज्य का प्रतीक उत्तर  होंगे अनेक, प्रश्न चाहे हो सटीक जन्म-भूमि सभ्यता की, कर्म-भूमि संस्कृति की काल के मार्ग पर, स्मृतियों को ढोता यह रथ चिरंतन, निरन्तन, सनातन   – @dimple_kaul

Play to listen इतने लिबरला गए कर भारतीयता का विरोध संवेदनहीनता की पराकाष्ठा लांघी रहा ना कोई बोध   लगे दुखद त्रासदी नहीं नारी का बलात्कार चकित हैं ये, क्यों प्राण तजे क्यों ना की, दासता सहर्ष स्वीकार   पाश्चात्य पद्दति के निम्न स्तर के, ये दास अपनी संस्कृति सभ्यता का दिन-रैन करें उपहास – […]

Play to listen सिन्दूर नहीं मिटा मिटी अमन की आशा सत्तर वर्षों तक देखा हमने बहुत तमाशा घर तोड़ गया कैसा भाई डूबी रैन निशा छाई अब भी है अपेक्षा शान्ति की कब तक पालोगे यह भ्रान्ति रक्त-बीज है वह मित्र नहीं चलन पुराना चरित्र भी उसका उपाय नहीं धन्वंतरि डाक बाँचना करो बंद मंत्री […]

Play to listen कुर्बानी हुई ख़तम फ़र्ज़ी एक्टिविज्म का दबा बटन पशुओं के उत्पीड़न की पेटी बाँध के बेटा अधर्म को पुचकारता निर्लज्ज स्वार्थी आएगा संस्कृति धर्म को धुत्कारता सिखाने पर्यावरण हमें PETA – @dimple_kaul

Play to listen सर्वोच्च केवल न्यायालय वह सर्वोपरि अपने राम लल्ला आतिशबाज़ी ही छीनी है छीनोगे कैसे धर्म भला मूक पशु की चीत्कार कर देते हो अनसुनी हैं कोटि विषय सुलझाने को पर प्रिय आपको सनसनी अन्न के बोरे भर-भर कर यहाँ धर्म खरीदा जाता है बर्तानिया के बचे न्याय को नज़र वह नहीं आता […]

Play to listen गाँठ बांध लो बात तुरंत हर रावण का राम ही अंत जलेंगे रावण ढहेगी लंका तुम बनो तो राम बिना किसी शंका। -@dimple_kaul

स्मृति पटल पर अंकित कर दो अखिल विश्व में जय कर दो   अनुनय विनय के क्षण बीते अब संयम और सत्य जीते   सिन्दूर में विष मिलाते संस्कृति को असभ्य जतलाते   होली, दिवाली,गणेशोत्सव में मचाते उपद्रवी कलरव   कल के जन्मे सम्प्रदाय आपत्ति जिन्हे पूजने पे गाय   गणित, विज्ञान, कला, शिल्प के […]

Play to listen Triple Talaq बाईस अगस्त की तारीख तवारीख बदलेगी क्या शिद्दत से की जिसके लिए कई बहनों ने इल्तजा   सदियों से करती आई है रस्म ये  ज़िंदगियाँ ख़ाक परवरदिगार सुने फरियाद ढह जाये अब ट्रिपल तलाक -@dimple_kaul

Play to listen Hindu Human Rights पीड़ित, शोषित जन मानस को दिया आश्रय जिसने किया विश्वास,उसका खंडित क्या कहें कैसे, किस-किस ने आश्रयदाता की मनुष्यता का भुगतान हुआ यूं ऋण भारतीयता जड़ से झरझर संस्कृति घोषित कृत्रिम विश्व गुरु पर हुआ निरंतर वर्षों विदेशी प्रहार विभाजित भूमि में ढूँढे विवश हिन्दू मानवाधिकार – @dimple_kaul

Play to listen Shamshan Ya Kabaristan एक वरिष्ठ पत्रकार उत्सुक हैं जानने को गोरखपुर के अबोध शिशुओं के शव कहाँ जाएँगे शमशान या कब्रिस्तान हमारे प्रेम,वात्सल्य एवं संवेदना से भरी श्रद्धांजलि लिए वे दिव्य-जीव मोक्ष मार्ग पर अग्रसर हैं आपकी संकीर्ण, स्वार्थी, निर्लज्ज,घृणित मानसिकता की चर्चा तो अब देश भर है जिस अंतरात्मा की आप […]

Play to listen   Partition of the Motherland Purely on religious divide With contrition AWOL You took it in your stride   What happened In the land of 5 rivers Down your spine Did not send any shivers   In the Valley of the Rishis Rapes, killings, plunder You dismissed it nonchalantly As a political […]